Chhath Puja, Happy Chhath Puja In Bihar, Chhath Puja Date 2022 in Bihar,chhath Puja Images in Bihar

Chhath Puja, Happy Chhath Puja In Bihar

हैलो दोस्तों मैं हूं आप का दोस्त और मेरे इस लेख मे आप स्वागत है । दोस्तो आप का समय हमारे लिए बहोत ही अमूल्य है अतः आप का ज्यादा अमूल्य समय न लेते हुए हम अपना लेख लिखना आरंभ करते है। हम इस लेख में आपको बताएंगे छठ पूजा का पर्व chhath puja ka parv के बारे में कि छठ पूजा क्या है क्यू मनाया जता है इससे जुड़ी कई जानकारी आपको इस लेख के माध्यम से आप को बताएंगे तो चलिए आरंभ करते है।

Chhath puja image
Chhath Puja images

छठ पूजा 2022 में कब है?प्रत्येक वर्ष लोक आस्था का महापर्व छठ मनाया जाता है। छठ को आस्था का महापर्व माना गया है। कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि पर छठी मैया की पूजा की जाती है। मान्यता है कि छठ पूजा करने वाले भक्तों को सुख, समृद्धि, धन, वैभव, यश और मान-सम्मान की प्राप्ति होती है। कहते हैं। जो महिलाएं यह व्रत रखती हैं, उनकी संतानों को दीर्घायु और सुख समृद्धि प्राप्त होती है। इसके साथ यह व्रत करने से निरोगी जीवन का आशीर्वाद भी मिलता है। 

पर भारत के कुछ कठिन पलों में से एक है जो 4 दिनों तक चलता है। इस पर में 36 घंटे निर्जला व्रत रख सूर्य देव और छठी मैया की पूजा की जाती है और उन्हें अर्ध्य दिया जाता है। यह व्रत मनोकामना पूर्ति के लिए भी किया जाता है। महिलाओं के साथ पुरुष भी व्रत करते हैं। कार्तिक माह की चतुर्थी तिथि पर नहाना खाना होता है। इसके बाद दूसरे दिन करना और तीसरे दिन डूबते सूर्य को अर्ध्य  दिया जाता है। चौथ के दिन उगते सूर्य को अर्घ देने के बाद व्रत का पारण किया जाता है। Happy chhath Puja image in bihar

आइए जानते हैं कब से शुरू हो रहा है छत पर और नहाए खाए और खन्ना की तिथि। प्रथम दिन नहाए खाए 28 अक्टूबर शुक्रवार को परंपरा का निर्वाह किया जाता है। कार्तिक शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को नहाए खाए के रूप में मनाया जाता है। इस परंपरा के अनुसार सबसे पहले घर की सफाई कर उसे शुद्ध किया जाता है। इसके पश्चात 8:00 बजे स्नान कर शाकाहारी भोजन ग्रहण कर व्रत की शुरुआत करते हैं।

घर के अन्य सभी सदस्य वृद्धि सदस्यों के भोजन करने के बाद ही भोजन ग्रहण करते हैं। नियम के अनुसार इस दिन भात,लौकी की सब्जी और दाल ग्रहण किया जाता है और खाने में सिर्फ सेंधा नमक डाला जाता है पूजा के तृतीय दिन हर ना 29 अक्टूबर शनिवार को दूसरे दिन कार्तिक शुक्ल पंचमी को भक्त दिनभर का उपवास रखते हैं और शाम को भोजन करते हैं। इससे खन्ना कहा जाता है। खन्ना के बाद प्रसाद के रूप में गन्ने के रस में बने हुए चावल की खीर के साथ दूध चावल का पीठा और घी चुपड़ी रोटी बनाई जाती है।

Happy chhath puja wishes
Chhath Puja in bihar

इसमें नमक या चीनी का उपयोग नहीं किया जाता है। फिर ग्रहण करने के बाद 36 घंटे का व्रत रखा जाता है। हर ना तिथि पर तन और मन के शुद्धिकरण पर ध्यान दिया जाता है। छठ पूजा का तृतीय दिन डूबते सूर्य को अर्घ दिया जायेगा 29 अक्टूबर रविवार को कार्तिक शुक्ल पक्ष के छठ पूजा का मुख्य दिन माना जाता है। काल को पूरी तैयारी और व्यवस्था कर बांस की टोकरी में और का सूप सजाया जाता है और वृद्धि के साथ परिवार और पड़ोस के सारे लोग सूर्य को अर्घ देने का हाथ की ओर जाते हैं। सभी छठ व्रती तालाब या नदी किनारे सामूहिक रूप से आसान संपन्न करते हैं।

Chhath Puja ki date 2022 अब बात करते हैं छठ पूजा की तिथि के बारे में 

कार्तिक शुक्ल षष्ठी तिथि प्रारंभ 30 अक्टूबर सुबह। 5:49 मिनट पर 

कार्तिक शुक्ल षष्ठी तिथि समाप्त 30 अक्टूबर को सुबह 3:27 पर

सूर्य का दुबने का समय साईं 5:30 पर दिन उगते सूर्य को अर्ध देना है

सूर्य को अर्ध का 30 अक्टूबर सोमवार को देंगे। इस दिन कार्तिक शुक्ल सप्तमी की शोभा बुद्धिमान सूर्य को अर्ध्य जाता है।

इस दिन सूर्योदय से पहले पानी में खड़े होते हैं। सूर्य को अर्घ देते हैं और देने के बाद लोग प्रसाद का सेवन करके व्रत का पारण करते हैं।सूर्योदय का समय प्रातः 6:31 है।

Top Chhath Puja Image in Bihar

Chhath Puja

Chhath puja,chhath Puja 2022, chhath Puja date 2022, happy chhath Puja, chhath puja kab hai,chhath puja image,chhath puja 2022 date in bihar,bihar chhath puja image,

Top Images in biharko

More Updates Click Here

Diwali Wishes Quotes

Happy bhai dooj story in Wikipedia

Bhai Dooj ki story

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

New Year Wishes 2023 & Happy New Year HD Images For Free Download for WhatsApp Rishabh Pant Car Accidents Photos Happy New year wishes 2023 Happy New Year Wishes Images 2023